Begin typing your search above and press return to search.

बैडमिंटन

इंडिया ओपन: पीवी सिंधु, लक्ष्य सेन खिताब के प्रबल दावेदारों में शामिल

किदाम्बी श्रीकांत को पहले दौर में विक्टर एक्सेलसेन के रूप में पहले दौर में कठिन चुनौती मिली है

इंडिया ओपन: पीवी सिंधु, लक्ष्य सेन खिताब के प्रबल दावेदारों में शामिल
X

लक्ष्य सेन, पीवी सिंधु, कैरोलिना मारिन और अन्थोनी गिंटिंग 

By

Bikash Chand Katoch

Updated: 2023-01-16T21:34:37+05:30

मौजूदा चैम्पियन लक्ष्य सेन और ओलंपिक में दो बार की पदक विजेता पीवी सिंधु दिल्ली में मंगलवार से शुरू हो रहे इंडिया ओपन सुपर 750 बैडमिंटन टूर्नामेंट में खिताब के प्रबल दावेदारों में से होंगे।

विश्व रैंकिंग में भारत के तीन खिलाड़ी पीवी सिंधु (7), लक्ष्य सेन (10) और एच एस प्रणय (8) वर्तमान में शीर्ष दस में हैं जबकि सात्विक साइराज रंकीरेड्डी और चिराग शेट्टी युगल रैंकिंग में पांचवें स्थान पर हैं। सातवीं वरीयता प्राप्त सेन और पांचवीं वरीयता प्राप्त सात्विक-चिराग पिछले साल के चैम्पियन के रूप में उतरेंगे। वहीं नौ लाख डॉलर ईनामी राशि के इस टूर्नामेंट में सिंधु और 13वीं रैंकिंग वाले किदाम्बी श्रीकांत पूर्व चैम्पियन हैं।

वैसे पिछले नतीजे इसमें मायने नहीं रखेंगे क्योंकि विश्व बैडमिंटन के शीर्ष खिलाड़ी एक दूसरे के आमने सामने होंगे। सेन और प्रणय, 2022 में भारतीय पुरुष एकल के दो सबसे प्रमुख खिलाड़ी, शुरुआती दौर में एक बार फिर एक दूसरे को कड़ी टक्कर देंगे, जिसमें दोनों में से युवा लक्ष्य सेन कुआलालंपुर में पिछले हफ्ते के शुरुआती दौर में उलटफेर के बाद इस बार एहसान वापस करने की उम्मीद कर रहे हैं।

दुनिया के पूर्व नंबर एक खिलाड़ी किदाम्बी श्रीकांत को पहले दौर में दो बार के विश्व चैम्पियन और मौजूदा ओलंपिक चैम्पियन विक्टर एक्सेलसेन के रूप में पहले दौर में कठिन चुनौती मिली है। एक्सेलसेन ने रविवार को मलेशिया खिताब बरकरार रखते हुए अपनी रिकॉर्ड-तोड़ जीत की लय को आगे बढ़ाया।

सिंधु ने भी एडी की चोट के कारण पिछले साल अगस्त में राष्ट्रमंडल खेलों के बाद से कोई मैच नहीं खेला था, उन्होंने लंबे समय बाद मलेशिया ओपन में वापसी की थी लेकिन स्पेन की कैरोलिना मारिन ने उन्हें पहले दौर में हरा दिया। मरीन पिछले कुछ वर्षों में अपने दोनों घुटनों में दो एसीएल चोटों के कारण खुद वापसी कर रही हैं। इस बार पहले दौर में सिंधु का सामना थाईलैंड की सुपानिदा केतथोंग से होगा। जिससे वह पिछले साल हार गई थी। क्वार्टर फाइनल में उनका सामना ओलंपिक चैम्पियन चीन की चेन युफेइ से हो सकता है।

लंदन ओलंपिक कांस्य पदक विजेता साइना नेहवाल पहले दौर में डेनमार्क की मिया ब्लिचफेल्ट से खेलेगी। चोट के कारण साइना पिछले साल अच्छा प्रदर्शन नहीं कर सकी। युवा मालविका बंसोड़ और आकर्षि कश्यप पहले दौर में क्रमश: दुनिया की 11वें नंबर की खिलाड़ी थाईलैंड की बुसानन ओंगबामरूंगफान और 24वें नंबर की खिलाड़ी अमेरिका की बेवेन झांग से खेलेंगी।

सात्विक और चिराग पिछले सप्ताह कुआलालंपुर में सेमीफाइनल तक पहुंचे थे। उनका सामना पुरूष युगल के पहले दौर में डेनमार्क के जेप्पे बे और लास्से मोहेडे से होगा। भारतीय जोड़ी को शीर्ष वरीय ताकुरो होकी और जापान के युगो कोबायाशी के खिलाफ संभावित क्वार्टर फाइनल में वास्तविक परीक्षा का सामना करना पड़ सकता है। ध्रुव कपिला और एम आर अर्जुन चोट के कारण नहीं खेल रहे हैं लेकिन कृष्णा प्रसाद जी और विष्णुवर्धन गौड़ का सामना पहले दौर में नीदरलैंड के रूबेन जिली और टीस वान डेर लेक से होगा।

महिला युगल में राष्ट्रमंडल खेलों की कांस्य पदक विजेता त्रिसा जॉली और गायत्री गोपीचंद का सामना फ्रांस की मरगोट लैम्बर्ट और अन्ने त्रान से होगा। मिश्रित युगल में तनीषा कास्ट्रो और ईशान भटनागर नीदरलैंड के रॉबिन टेबलिंग और सेलेना पीक से खेलेंगे।

अंतर्राष्ट्रीय सितारों में, एक्सलसन, जिन्होंने 2022 में सिर्फ तीन मैच गंवाए हैं, और जापान की अकाने यामागुची, जिन्होंने 2022 में ऑल इंग्लैंड, वर्ल्ड चैंपियनशिप और वर्ल्ड टूर फाइनल सहित चार खिताब जीते हैं, खिताब के लिए पसंदीदा होंगे। सभी की निगाहें अगली पीढ़ी के शटलरों पर भी होंगी - जापान के नए सनसनी कोडाई नारोका, मलेशिया के ली ज़ी जिया, पूर्व विश्व चैंपियन लोह कीन यू और थाईलैंड के कुनलावुत विटिडसन।

Next Story
Share it