Begin typing your search above and press return to search.

बैडमिंटन

Asian Junior Championships: उन्नति अंडर-17 महिला एकल के फाइनल में पहुचने वाली पहली भारतीय

उन्नति के अलावा अंडर-15 एकल खिलाड़ी अनीश थोप्पानी और अर्श मोहम्मद एवं संस्कार सारस्वत की अंडर-17 पुरुष युगल जोड़ी ने भी फाइनल में जगह पक्की की

Unnati Hooda Badminton
X

उन्नति हुड्डा

By

Bikash Chand Katoch

Updated: 2022-12-04T21:07:45+05:30

भारत की उभरती हुई बैडमिंटन खिलाड़ी उन्नति हुड्डा ने बैडमिंटन एशिया जूनियर चैंपियनशिप के अंडर-17 एकल महिला स्पर्धा के सेमीफाइनल में शनिवार को जापान की मियोन योकूची को सीधे गेम में शिकस्त दी।

थाईलैंड के नोथाबुरी में खेली जा रही प्रतियोगिता के फाइनल में रविवार को उनका सामना स्थानीय खिलाड़ी सरुनरक विटिडसन से होगा।

उन्नति जापान की खिलाड़ी के खिलाफ 21-8 21-17 की जीत के साथ प्रतियोगिता के अंडर-17 एकल महिला वर्ग के फाइनल में पहुंचने वाली पहली भारतीय खिलाड़ी भी बन गयी। ओडिशा ओपन चैंपियन ने इस प्रतिष्ठित प्रतियोगिता में अब तक एक भी गेम नहीं गंवाया है।

उन्नति के अलावा अंडर-15 एकल खिलाड़ी अनीश थोप्पानी और अर्श मोहम्मद एवं संस्कार सारस्वत की अंडर-17 पुरुष युगल जोड़ी ने भी प्रभावशाली जीत के साथ फाइनल में जगह पक्की की।

अर्श मोहम्मद एवं संस्कार सारस्वत

इससे पहले, अर्जुन एमआर-चिराग शेट्टी (2013) और कृष्णा प्रसाद गरगा-सात्विकसाईराज रंकीरेड्डी (2015) की पुरुष युगल जोड़ी ने टूर्नामेंट में अंडर-17 वर्ग में भारत के लिए स्वर्ण पदक जीते हैं।

भारतीय बैडमिंटन एसोसिएशन के महासचिव संजय मिश्रा ने कहा, "यह एक युवा खिलाड़ी के लिए एक बड़ी उपलब्धि है। उन्नति ने पूरे टूर्नामेंट में प्रभावशाली प्रदर्शन के साथ अपनी शीर्ष वरीयता प्राप्त साबित की है। मैं इस प्रतिष्ठित टूर्नामेंट में अंडर-17 एकल फाइनल में प्रवेश करने वाली पहली भारतीय बनने पर उन्हें बधाई देता हूँ। और मैं अनीश, अर्श और संस्कार को फाइनल में प्रवेश करने के लिए और अन्य भारतीयों को भी बधाई देता हूं जिन्होंने कांस्य पदक हासिल किए। यह टूर्नामेंट युवा शटलरों और उन्नति के लिए एक बेहतरीन मंच है और हमारे अन्य शटलरों ने प्रभावशाली प्रदर्शन के साथ अपनी प्रतिभा का प्रदर्शन किया है।

शानदार लय में चल रही अर्श और संस्कार की जोड़ी ने अंतिम चार मुकाबले में ची-रुई चिउ और शाओ हुआ चिउ की चीनी ताइपे की जोड़ी के खिलाफ 21-15, 21-19 से जीत दर्ज की। फाइनल में उनका सामना लाई पो यू और यी-हाओ लिन की एक और चीनी ताइपे जोड़ी से होगा।

पुरुषों के अंडर-15 सेमीफाइनल में अनीश ने एक गेम पिछड़ने के बाद दमदार वापसी करते हुए चीनी ताइपे के दूसरे वरीय ली यू-जुई को 18-21 21-12 21-12 से हराया। फाइनल में अनीश का सामना चीनी ताइपे के चुंग-सियांग यिह से होगा, जिन्होंने दूसरे सेमीफाइनल में भारत के ज्ञान दत्तू को 21-16, 19-21, 21-13 से हराया।

दत्तू का अभियान कांस्य पदक के साथ खत्म हुआ।

2013 में, सिरिल वर्मा ने पुरुषों के U-15 एकल में स्वर्ण पदक जीता था, जबकि सामिया फारूकी और तस्नीम मीर ने क्रमशः 2017 और 2019 में U-15 महिला एकल खिताब जीता था।

ब्योर्न जैसन और आतिश श्रीनिवास पीवी की अंडर-15 पुरुष युगल जोड़ी ने भी सेमीफाइनल मुकाबला गवां कर कांस्य पदक हासिल किया। इस भारतीय जोड़ी को मोहम्मद मुबारक और रेहान प्रामोनो की शीर्ष वरीयता प्राप्त इंडोनेशिया की जोड़ी ने 21-18 21-14 से हराया।

Next Story
Share it