शनिवार, अक्टूबर 31, 2020
होम ताज़ा ख़बर BWF वर्ल्ड बैडमिंटन चैम्पियनशिप में कहीं ख़ुशी तो कहीं ग़म

BWF वर्ल्ड बैडमिंटन चैम्पियनशिप में कहीं ख़ुशी तो कहीं ग़म

BWF वर्ल्ड बैडमिंटन चैंपियन्शिप के दूसरे दिन पांच बार के वर्ल्ड चैंपियन चाइना के लिन डान को हरा कर एच एस प्रणोय के ऐतिहासिक जीत के बाद साई परिनीत ने भी दक्षिण कोरिया के ली डॉन्ग को हरा कर प्री क्वाटरफिनॉल्स में जगह बना ली| इनके मैच के बाद एम आर अर्जुन और रामचंद्र श्लोक ने 21 – 14 और 21 – 16 से सीधे गेमों में स्विट्ज़रलैंड के टोबीस कुइंजी और ओलिवर स्कॉलर को हरा कर तीसरे राउंड में जगह सुनिक्षित की|

तो वहीं मनु अत्रि और सुमीत रेड्डी की जोड़ी ने भी पुरुष युगल में थोम गिककेल और रोनन लबार को हरा कर प्री क्वाटरफिनॉल्स में जगह बनाई| वहीं दूसरी तरफ अरुण जॉर्ज और संयम शुक्ला और महिला युगल में पूजा डांडू और संजना संतोष की जोड़ी को हार का सामना करना पड़ा|

मनु अत्रि और सुमीत रेड्डी की जोड़ी ने पुरुष युगल्स में थोम गिककेल और रोनन लबार को हराया
मनु अत्रि और सुमीत रेड्डी की जोड़ी ने पुरुष युगल में थोम गिककेल और रोनन लबार को हराया

आज यानी तीसरे दिन के मुकाबला काफी दिलचस्प होंगे जहाँ भारत की स्टार शटलर्स – पी वी सिंधु और साइना नेहवाल मैदान पर उतरेंगी| आज उनका मुकाबला भारतीय समयनुसार शाम 4 बजे के बाद ही शुरू होगा| पहले मुकाबले में पी वी सिंधु चाइनीस तायपेई की पाई यु पो के साथ भिड़ेंगी जिनके खिलाफ उनका 2 – 0 का हेड टू हेड रिकॉर्ड है| यह मुकाबला सिंधु के लिए ज़्यादा दिक्कत का नहीं होना चाहिए| वहीं साइना का मैच शाम 9 बजे के आस – पास होगा| पहले 2 राउंड में बाई मिलने के बाद आज साइना नीदरलैंड्स की सोराया दे विश्च एज्बेर्गेन के साथ भिड़ेंगी जिसके साथ वह पहली बार खेलने जा रहीं हैं| इंजरी के बाद वापसी करते हुए, साइना एक अच्छे परिणाम की उम्मीद करेंगी| इससे पहले साल की शुरुआत में साइना इंडोनेशियन मास्टर्स का ख़िताब अपने नाम कर चुकी हैं हालांकि वह जापान और इंडोनेशियन ओपन से चोट के कारण अपना नाम विथड्रॉ कर चुकीं थी|

सिंधु से उम्मीद बरकरार रहेगी क्योंकि उन्होंने दोनों ही (जापान और इण्डोनेसियन ओपन) टूर्नामेंट्स की रनरअप रहीं थीं| एक नज़र डाल लेते हैं तीसरे दिन के कार्यक्रम पर।

इनके आलावा पुरुष सिंगल्स में किदाम्बी श्रीकांत और एच एस प्रणोय का मुकाबला मिशा जिल्बरमान और वर्ल्ड नंबर 1 केंतो मोमोतो के साथ होगा| पिछले राउंड में 5 बार के विश्व चैम्पियन लिन डान को हरा कर एच एस प्रणोय भारतीय बैडमिंटन के पहले ऐसे खिलाडी बने जिसने इस चीनी खिलाड़ी के खिलाफ 3 – 2 का विन लॉस रिकॉर्ड बनाया।