Begin typing your search above and press return to search.

एथलेटिक्स

कमर की चोट के चलते राष्ट्रीय खेलों में हिस्सा नही ले पाएंगे स्टार एथलीट नीरज चोपड़ा

आईओए के निर्देश के बावजूद भाला फेंक चैंपियन नीरज चोपड़ा का लंबे अंतरराष्ट्रीय सत्र और कमर में चोट के कारण आगामी राष्ट्रीय खेलों में भाग लेना मुश्किल है

कमर की चोट के चलते राष्ट्रीय खेलों में हिस्सा नही ले पाएंगे स्टार एथलीट नीरज चोपड़ा
X
By

Pratyaksha Asthana

Updated: 2022-09-09T22:44:30+05:30

ज्यूरिख में हुई डायमंड लीग में टोक्यो ओलंपिक के स्वर्ण पदक विजेता और भारत के स्टार एथलीट नीरज चोपड़ा ने एक बार फिर इतिहास रचते हुए खिताब अपने नाम किया हैं। वह इस खिताब को जीतने वाले पहले भारतीय बने।

नीरज अपनी चोट के चलते राष्ट्रमंडल खेलों में हिस्सा नहीं ले पाए थे, जिसके बाद उन्होंने खुद पर काम किया और चोट से उभरते हुए डायमंड लीग में शानदार प्रदर्शन किया।

इस जीत के बाद गोल्डन बॉय नीरज आगामी राष्ट्रीय खेलों में नहीं खेल पाएंगे। नीरज की कमर की चोट पूरी तरह से उभरी नही है जिस वजह से वह एक या दो सप्ताह तक ट्रेनिंग नहीं लेंगे।

भारतीय ओलंपिक संघ (IOA) के निर्देश के बावजूद भाला फेंक चैंपियन नीरज चोपड़ा का लंबे अंतरराष्ट्रीय सत्र और कमर में चोट के कारण आगामी राष्ट्रीय खेलों में भाग लेना मुश्किल है।

जीत के बाद जब नीरज से 29 सितंबर से 12 अक्टूबर तक गुजरात के विभिन्न शहरों में आयोजित होने वाले राष्ट्रीय खेलों में भाग लेने के बारे में पूछा गया, तो नीरज ने यह जानकारी दी।

चोपड़ा ने कहा, ''राष्ट्रीय खेल करीब आ रहे हैं। मैं अभी कमर की चोट से उबर रहा हूं। मैं एक या दो सप्ताह तक प्रशिक्षण नहीं ले पाऊंगा। इसलिए मैं मुख्य रूप से अगले साल पर ध्यान केंद्रित कर रहा हूं।''

बता दें आईओए ने देश के शीर्ष एथलीटों के लिए खेलों में भाग लेना अनिवार्य कर दिया है, जिससे कई खिलाड़ियों को अपने प्रशिक्षण कार्यक्रम में बदलाव करना पड़ सकता है।

आईओए का यह निर्देश गृह मंत्री अमित शाह द्वारा खेलों के शुभंकर और राष्ट्रगान के लॉन्च के बाद आया है। इस कार्यक्रम में केंद्रीय खेल मंत्री अनुराग ठाकुर ने कहा कि यह अब तक के सबसे बड़े और भव्य राष्ट्रीय खेल होंगे।

नीरज को यह चोट अमेरिका में हुई विश्व चैंपियनशिप के दौरान रजत पदक जीतते हुए लगी थी, जिसके बाद वह राष्ट्रमंडल खेलों में भी भाग नहीं ले पाए थे, लेकिन एक महीने के बाद उन्होंने 26 अगस्त को वापसी की और डायमंड लीग सीरीज के लुसाने चरण को जीतकर ज्यूरिख फाइनल के लिए क्वॉलीफाई किया और यहाँ भी 8 सितम्बर को खिताब जीतकर अपना और देश दोनों का नाम रोशन किया।

Next Story
Share it