Begin typing your search above and press return to search.

एथलेटिक्स

भारत की 17 वर्षीय बेटी ने फ्रांस में किया देश का नाम रोशन, दो रजत पदक जीतकर पूरे देश को किया गौरवान्वित

लक्षिता शांडिल्य ने प्रतियोगिता में 800 मीटर और 1500 मीटर में भारत का प्रतिनिधित्व करते हुए दोनों में रजत पदक जीता

Lakshita Shandilya
X

लक्षिता शांडिल्य

By

Amit Rajput

Published: 26 May 2022 9:56 AM GMT

फ्रांस में आयोजित आईएसएफ वर्ल्ड स्कूल गेम्स जिमनासीड प्रतियोगिता में भारत की बेटी लक्षिता शांडिल्य ने बड़ा ही जोरदार प्रदर्शन किया। उन्होंने प्रतियोगिता में धमाकेदार प्रदर्शन करते हुए देश के लिए पदक नहीं बल्कि दो - दो रजत पदक जीते और देश का नाम रोशन किया। लक्षिता ने 1500 मीटर और 800 मीटर की दौड़ में हिस्सा लिया। जहां दोनों ही दौडो में उन्होंने जबरदस्त प्रदर्शन किया। उन्होंने फ्रांस में पदक जीतकर पूरे देश को गौरवान्वित किया और पूरे देश का नाम रोशन किया।

17 वर्षीय लक्षिता शांडिल्य ने प्रतियोगिता में 800 मीटर और 1500 मीटर में भारत का प्रतिनिधित्व करते हुए दोनों में रजत पदक जीता। उन्होंने 210 सेकंड में 800 मीटर की दौड़ पूरी की। हालांकि, वह एक सेकंड से स्वर्ण पदक से चूक गई। वहीं, 1500 मीटर की दौड़ में भी वह 2 सेकंड से स्वर्ण से चूक गई। उन्होंने इसे 427 सेकंड में पूरा किया और रजत पदक हासिल किया।

भारत पहुंचने के बाद वडोदरा रेलवे स्टेशन पर परिवार और अन्य लोगों ने उनका गर्मजोशी से स्वागत किया गया। अपनी इस सफलता को लेकर लक्षिता ने कहा कि मैं फ्रांस से आई हूं और 800 मीटर और 1500 मीटर में भारत के लिए दो रजत पदक जीते हैं। मैं चार साल से अभ्यास कर रही था। रंधावा सर ( उसके कोच) बेहद सहायक हैं। मेरे माता-पिता ने भी मेरा बहुत समर्थन किया। उन्होंने आगे कहा कि उनका अगला लक्ष्य एशियाई खेलों, राष्ट्रमंडल खेलों और ओलंपिक में अपने देश के लिए बड़ी जीत हासिल करना है।

वहीं,लक्षिता के पिता ने मीडिया से बात करते हुए कहा "मैं बहुत खुश हूं। यह वडोदरा और देश के लिए गर्व का क्षण है।" उनके कोच रिपनदीप रंधावा ने भी कहा "प्रतियोगिता वास्तव में कठिन थी और इस आयोजन में 65 देशों ने भाग लिया था। मौसम ठंडा और बरसात का था। इन परिस्थितियों में हमने दो रजत पदक जीते, यह बहुत अच्छी बात है।"

नवीनतम वीडियो
Next Story
Share it