Begin typing your search above and press return to search.

एथलेटिक्स

लगातार अच्छा प्रदर्शन कर देश के ये लॉन्ग जम्पर, ओलिंपिक के लिए दावा ठोक सकते है

इस समय देश में लॉन्ग जम्प के कारण कुछ एथलीट अपने प्रदर्शन से बहुत चर्चा में हैं

जेस्विन एल्ड्रिन, मुरली श्रीशंकर और शैली सिंह
X

जेस्विन एल्ड्रिन, मुरली श्रीशंकर और शैली सिंह

By

Amit Rajput

Updated: 2022-04-12T21:24:36+05:30

जब से टोक्यो ओलिंपिक में नीरज चोपड़ा ने एथलेटिक्स में देश के लिए गोल्ड मेडल जीता है ,तब से देश में एक बार फिर एथलेटिक्स में नई जान आ गयी है। जिसके बाद देश में दोबारा एथलीट अच्छा प्रदर्शन कर देशभर में सुर्खिया बटोर रहे है। इस समय देश में लॉन्ग जम्प के कारण कुछ एथलीट अपने प्रदर्शन से बहुत चर्चा में हैं।

आज हम आपको कुछ ऐसे ही लॉन्ग जम्प के एथलीट के बारे में बताने वाले है ,जो आने वाले समय में भारत देश का नाम रोशन कर सकते है।

जेस्विन एल्ड्रिन


जेस्विन एल्ड्रिन भारत के तेज़ी से उभरते हुए लॉन्ग जम्पर एथलीट है। पिछले कुछ समय से वे लगातार अच्छा प्रदर्शन कर रहे है। हाल ही में जेस्विन ने नेशनल फेडरेशन कप मेंस लॉन्ग जंप इवेंट में 8.37 मीटर की लंबी छलांग लगाकर स्वर्ण पदक जीता था हालांकि, तेज हवा की सीमा पार करने के कारण, नेशनल रिकॉर्ड उनके नाम दर्ज नहीं हो पाया।

लेकिन उनके इस प्रदर्शन ने देश में एथलीटों में एक नई उम्मीद जगा दी। वही एल्ड्रिन का परिवार मिठाई का कारोबार करता है। लेकिन कभी उनके परिवार ने उन पर कारोबार संभालने के लिए दबाव नहीं डाला। उन्होंने जेस्विन को लॉन्ग जम्प में आगे जाने के लिए सपोर्ट किया। जेस्विन दो बार के वर्ल्ड चैंपियनशिप मेडलिस्ट योअंद्री बेटांजोस से ट्रेनिंग ले रहे हैं।

मुरली श्रीशंकर


मुरली श्रीशंकर भारत के जाने माने लॉन्ग जम्पर है। वे टोक्यो ओलिंपिक में हिस्सा लेने वाले एकमात्र लॉन्ग जम्पर थे। हालंकि मुरली ओलिंपिक में भारत के लिए अच्छा प्रदर्शन नहीं कर पाए। हाल ही में मुरली ने नेशनल फेडरेशन कप में 8.36 मीटर की छलांग लगाई और अपने ही राष्ट्रीय रिकॉर्ड 8.26 मीटर को पीछे छोड़कर रजत पदक अपने नाम किया।

इस टूर्नामेंट में जेस्विन ने स्वर्ण पदक जीता था। मुरली और जेस्विन दोनों ही काफी अच्छे दोस्त है। मुरली को लॉन्ग जम्प विरासत में मिली थी। मुरली के पिता एस. मुरली पूर्व ट्रिपल जंप एथलीट थे और वह दक्षिण एशियाई खेलों में रजत पदक विजेता रहे हैं। उनके पिता ने ही उन्हें लॉन्ग जम्प में भविष्य बनाने की सलाह दी।

शैली सिंह


एथेलेटिक्स में आज शैली सिंह भी देश भर में काफी सुर्खिया बटोर रही है। शैली सिंह पिछले साल अंडर 20 चैम्पियनशिप में रजत पदक जीतकर देश का नाम रोशन किया था। उन्होंने उस टूर्नामेंट के फाइनल में 6.59 मीटर की सर्वश्रेष्ठ छलांग लगाई थी।

शैली उत्तर प्रदेश के झांसी की रहने वाली है। शैली की मां विनीता सिंह सिंगल मदर हैं। शैली अपने परिवार की पहली खिलाड़ी हैं, जिन्होंने खेलों को अपनाया। परिवार की आर्थिक स्थिति ठीक नहीं होने के बावजूद ट्रैक एंड फील्ड में करियर बनाने को प्रोत्साहित करने के लिए शैली अपनी मां को धन्यवाद देती हैं।

Next Story
Share it